Register Now

Login

Lost Password

Lost your password? Please enter your email address. You will receive a link and will create a new password via email.

Captcha Click on image to update the captcha .

Add post

You must login to add post .

Login

Register Now

If you want to know any thing or ask anything... Just simply Put your question and get expert advice and user advice. Earn points by question and answer and convert into big brand vouchers. 1 points = 1 INR


OlymTrade

दंगा या हिंसा के परीस्तिथि में क्या करे? किन बातो का ध्यान रखे?

भारत की राजधानी Delhi जो अपने दिलकुश और जिन्दादिली के लिए पूरे दुनिया में जाना जाता है, भारत में कुछ ऐसे मुद्दे सामने आये है जो की हमारे समाज को नई दिशा दे रही है, मगर कुछ लोग उनका विरोध भी कर रहे, वह लोग शांतिपूर्ण अपना विचार रख रहे है और अपना आक्रोश दिखा रहे है, लेकिन कुछ असामाजिक तत्वों के विचारो के कारण, वह शांतिपूर्ण विरोध को अपने निजी फायदे के लिए इस्तेमाल कर रहे है, इसी कारण भारत का गोरव Delhi अपनी पहचान खोता जा रहा है | आज हम इस पोस्ट में दंगा या हिंसा के परीस्तिथि में क्या करे? किन बातो का ध्यान रखे?

हिंसा और दंगे से किसी का कोई फायदा नहीं हो सकता इसलिए खुद को और दुसरो को इससे बचे और बचाए क्युकी ये हमारा वर्त्तमान और  भविष्य ख़राब करता है

हल में Delhi के यमुना पार शेत्र में इसके के कारण बहुत बड़ा दंगा और हिंसा हुई जिसमे बहुत जयादा जान और माल का नुकशान हुआ है | जिसमे कई लोगो के जान भी गई है, जिसमे एक IB के एक ऑफिसर के भी जान गवाई  है, यही दंगा और हिंसा Delhi के कई दूसरे जगह हुई है और होने के असंका जताई जा रही है |

दंगा या हिंसा होने की आशंका या होने पे कुछ महतवपूर्ण बातो का ध्यान रखे ताकि हम अपने और दुसरो के रक्षा कर सके |

  1. किसी दंगा या हिंसा के अफवाहों से बचे |

अगर किसी प्रकार की दंगा और हिंसा के अफवाहों के बारे में सुने तो एक दम से फालतू बाते दिमाग में न लाये | जो भी बाते आपने सुनी है, उसे पहले समझने के कोसिस करे फिर आप अपने सभी जानकार को बताये और समझाए | अगर आपको ये लगता है की ये बस एक अफवा हो सकता है, तो आप उसे आगे किसी को अच्छे से समझाए और सचेत करे की किसी के बहकावे में ना आये |

  1. आपने दिमाग को शांत रखने की कोसिस करे |

जब कभी भी आप दंगा या हिंसा की स्थिति में आये तो आप अपने दिमाग को शांत रखे और समझदारी से काम ले | यह पहले सोचे के आपने आप की सुरक्षा कैसे करे क्युकी जब तक आप अपनी रक्षा नहीं करेंगे तो अपने परिवार और समाज के रक्षा नहीं कर सकते | अफवाहों के कारण भगदर न मचाये क्युकी चाहे कोई भी दंगा या हिंसा से कोई नुकशान हो या न हो मगर आपके फालतू के अफवाहों के कारण जरूर बहुत जान और माल का नुकशान हो सकता है |

  1. आपने वर्ताव को सामान्य रखे |

जब कभी भी ऐसी कोई स्तिथि आये तो आप चाहे जितना भी परेशान या चिंतित रहे, अपने परिवार, दोस्तों और किसी भी अन्य व्यक्ति से बात करे तो ऐसा दिखाए के आप बिकुल सामान्य है क्युकी आपको अशांत और परेशान देख कर सामने वाला व्यक्ति और भी जयादा परेशान हो सकता है और सायद परिस्थिति और ख़राब हो सकती है |

  1. मोबाइल फ़ोन और सोशल मेसेज एप्लीकेशन का परयोग करे |

आप सब को एक साथ फ़ोन नहीं कर सकते, इसमें समय भी जयादा लगता है इसलिए आप सभी को सब से पहले मेसेज या सोशल मेसेज यानि की whatsapp, messanger, twitter इत्यादी पर सब को सावधान करे और जो भी उचित सुरक्षा के उपाए हो उन्हें वह करने को कहे और अपने आप को सुरक्षित रखने के साथ दुसरो को भी सुरक्षित रखने में मदद करे |

  1. एकता में बल – एक दुसरो के साथ संपर्क बनाये रखे |

हम सब ये कोसिस करे के किसी भी असमान्य स्तिथि में सब मिल जुल के रहे क्युकी सब जाते है के एकता में बहुत बल होता है | एक दुसरो के मदद कर के हम सब किसी भी असामाजिक तत्वों के इरादों को नाकाम कर सकते है |  हम सब को एक दुसरो के साथ संपर्क बनाये रखे ताकि हमें सभी परिस्थिति का अंदाज़ा लगता रहे |

  1. पुलिस की सहायता |

जब कभी कुछ जयादा ही ख़राब परिस्थिति आये तो आप पुलिस के सहायता ले और पुलिस के सभी निर्देशों को सही से पालन करे ताकि सहायता पहुचे में आसानी हो |

नोट: आप बिना मतलब के पुलिस को परेशान न करे क्युकी कही न कही पुलिस आप की और आप जसे अन्य लोगो की मदद करने में लगी होगी और परिस्थिति को सही करने में लगी होगी |

  1. अपने घर में खाने पीने का उचित व्यवस्था रखे |

अगर आप सब कुछ ऐसा अभाश हो रहा हो की कुछ असामान्य बाते हो सकती है तो आप सब आपने खाने पीने का उचित व्यवस्था रखे ताकि आप सब को जरूरत की वस्तु की दिक्कत न हो क्यों की हाल में ही जब delhi में ऐसी स्तिथि आई थी तो, परिस्थिति को काबू में करने के लिए पुलिस को धरा 144 लगनी पर गयी थी |

नोट : इस पोस्ट का मतलब सिर्फ आप सब को दंगा या हिंसा जैसे परिस्थिति में आपको सुरक्षित रखने में मदद करने की है न की आप को डरने या चन्तित में डालने की |

Leave a reply